Saturday , December 3 2022

Tag Archives: Hindi Pakhwada

हिंदी दिवस के ढकोसले को बंद कीजिये – योगेन्द्र यादव

हर साल १४ सितम्बर के दिन ऊब और अवसाद में डूब कर हिंदी की बरसी मनायी जाती है। सरकारी दफ्तर के बाबू हिन्दी की हिमायत में इसका कसीदा और स्यापा दोनों एक साथ पढ़ते हैं। हिंदी की पूजा-अर्चना और अतिशयोक्ति पूर्ण महिमामंडन के मुखौटे के पीछे हिंदी के चेहरे पर पराजयबोध …

Read More »