Saturday , December 3 2022

Kumar Gaurav

मोबाइल और मानव

आज का विश्व ‘मोबाइलमय’ है। मोबाइल आज से करीब पंद्रह वर्ष पूर्व किसी क्रांति की तरह आई और बस छा ही गई – हरजगह। आज मोबाइल इंडस्ट्री किसी विशाल समंदर सा है जिसमे कई कंपनीया रचनात्मकता और कल्पना के जहाज़ लिए गोते लगा रही हैं। रोज नए मोबाइल बाज़ार में …

Read More »